I do not recognize Rahbar right now

पहचानता नहीं हूँ अभी रहबर को मैं

पहचानता नहीं हूँ अभी रहबर को मैं लीडरशिप या क़यादत एक अज़ीम ख़ूबी है। यह ख़ूबी हर इंसान में नहीं होती। क़यादत एक अज़ीम ज़िम्‍मेदारी का नाम है। जिसके बोझ …

The right time to remove the emptiness of Qayadat

क़यादत के ख़ालीपन को दूर करने का सही वक़्त

*क़यादत के ख़ालीपन को दूर करने का सही वक़्त* (कलीमुल हफ़ीज़) मुल्‍क के हालात की गंभीरता और उसके दूरगामी प्रभाव एवं नतीजों से हर समझदार नागरिक परिचित है। मुल्‍क में …

"Our strategy in the current state of the country"

मुल्‍क के मौजूदा हालात में हमारी रणनीति-TheCoverage.Net

“मुल्‍क के मौजूदा हालात में हमारी रणनीति” (कलीमुल हफ़ीज़) मुल्‍क इस वक़्त जिन हालात से गुज़र रहा है वह इतनी चिंताजनक है कि शायद उसको बयान न करना ही बेहतर …

We cannot lose our freedom

अपनी आजा़दी को हम हरगिज़ गंवा सकते नहीं

अपनी आजा़दी को हम हरगिज़ गंवा सकते नहीं कलीमुल हफ़ीज़ कंवीनर, इंडियन मुस्लिम इंटेलेक्चुअल्स फो़रम जामिया नगर, नई दिल्ली-25 आज़ादी इंसान का पैदाइशी हक़ है। आजा़दी का एहसास और आजा़दी …

It is not possible that there is no cure thecoverage.net

मुमकिन नहीं कि शामे-अलम की सहर न हो

मुमकिन नहीं कि शामे-अलम की सहर न हो मिल्लत का जायज़ा लेने से मालूम होता है कि मिल्लत में बहुत सी कमज़ोरियां हैं, जिनकी गिनती करना मुश्किल है। नुमायां कमज़ोरियों …

“राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर ज़ाफ़रानी साया”

“राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर ज़ाफ़रानी साया” नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में अधिकांश बिंदु प्रशंसनीय हैं। मिसाल के तौर पर शिक्षा तक सबकी पहुंच, शिक्षा के लिए समान अवसर, शिक्षकों की …